Types of Computer in Hindi [कम्प्यूटर के प्रकार क्या हैं?]

Types-of-Computer-in-Hindi-Computer-ke-Prakar

Types of Computer in Hindi [कंप्यूटर के प्रकार]: आधुनिक समय की बात करें तो आधुनिक समय में Computer का महत्व बहुत बढ़ता जा रहा है। बाजार मे अनेको प्रकार के Computer ke Prakar उपलब्ध है। आज के समय मे Computer लोगों की जरूरत बन चुका है।

Classifications of Computer in Hindi: जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कंप्यूटर एक Electronic Device है जो यूजर द्वारा दिए गए डाटा को प्राप्त करता है, दिए गए निर्देशों के अनुसार डाटा को Process करता है, उसको मेमोरी में Store करता है और अंत में आउटपुट डिवाइस के द्वारा आउटपुट के रूप में यूज़र को दिखा देता है।

कंप्यूटर के प्रकार (Types of Computer in Hindi):

हार्डवेयर डिजाइन (Hardware Design), उद्देश्य (Purpose) और आकार या कैपेसिटी (Size or Capacity) के आधार पर Computer को वर्गीकृत किया गया है जो निम्न प्रकार है:

Types of Computer in Hindi | कंप्यूटर के प्रकार और उनका विवरण | HindiCapitals

➧Classifications of Computer in Hindi [Computer ke Prakar]

  1. हार्डवेयर डिजाइन के आधार पर (Based on Hardware Design)
  2. उद्देश्य के आधार पर (Based on Purpose)
  3. आकार और कैपेसिटी के आधार पर (Based on Size and Capacity)

1. हार्डवेयर डिजाइन के आधार पर (Based on Hardware Design)

हार्डवेयर डिजाइन के आधार पर Computer को तीन विभिन्न भागों में वर्गीकृत किया गया है जो निम्न प्रकार है

  1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer)
  2. डिजिटल कम्प्यूटर (Digital Computer)
  3. हायब्रिड कम्प्यूटर (Hybrid Computer)
I. एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer)

ऐसे Computer जो भौतिक मात्राओं जैसे- तापमान (Temperature), वोल्टेज (Voltage), प्रतिरोध (Resistance),  लंबाई (Length), ऊंचाई (Height) आदि को मापकर उनके परिणाम दिखाते हैं एनालॉग कंप्यूटर कहलाते हैं। ये Computer केवल मापन करते हैं ना की गणना। Analog Computer आंकड़ों को स्टोर नहीं करता है केवल दिखाता है जैसे थर्मामीटर।

Analog Computer का उपयोग इंजीनियरिंग और विज्ञान के क्षेत्र में अधिक किया जाता है क्योंकि ये ऐसे क्षेत्र हैं जहां पर मात्रकों का प्रयोग अधिक होता है। उदाहरण के लिए मानलो कि आप पेट्रोल पंप में पेट्रोल भराने के लिए गये तो पेट्रोल पंप से निकलने वाले पेट्रोल की मात्रा को मापकर उसे लीटर में कन्वर्ट करना और उसके मूल्य की गणना करना यह पूरा क्रियाकलाप Analog Computer के द्वारा होता है।

II. डिजिटल कम्प्यूटर (Digital Computer)

Digital Computer का नाम “Digit” शब्द से रखा गया है यहां Digit का अर्थ होता है “अंक” अर्थात डिजिटल कंप्यूटर वे कंप्यूटर होते हैं जो डिजिट यानी अंकों की गणना करते हैं। डिजिटल कंप्यूटर आंकड़ों में आंकड़ों को स्टोर करने की Capability होती है। डिजिटल कंप्यूटर गणना करते हैं जबकि एनालॉग कंप्यूटर मापने के काम आते हैं।

डिजिटल कंप्यूटर का इस्तेमाल अधिकतर शिक्षा के क्षेत्र में, व्यापार (Business) के क्षेत्र में, बैंकिंग के क्षेत्र में, मनोरंजन के क्षेत्र में इत्यादि जगहों पर किया जाता है। आजकल डिजिटल कंप्यूटर काफी प्रसिद्ध भी हैं। डिजिटल कंप्यूटर गणितीय और तार्किक कार्य करने में सक्षम होते हैं। जैसे: Calculator

III. हायब्रिड कम्प्यूटर (Hybrid Computer)

Hybrid का अर्थ होता है अनेक गुणधर्मों वाला अर्थात Hybrid Computer में कंप्यूटर होते हैं जिसमें एनालॉग कंप्यूटर और डिजिटल कंप्यूटर दोनों के गुण पाए जाते हैं। जैसे पेट्रोल पंप की मशीन एक हाइब्रिड कंप्यूटर का उदाहरण है। Hybrid Computer, Analog Computer और Digital Computer से अधिक तेज होते हैं।

इसे भी पढ़े:

2. उद्देश्य के आधार पर (Based on Purpose)

उद्देश्य के आधार पर भी कंप्यूटर को मुख्य रूप से दो भागों में विभाजित किया गया है जो निम्नलिखित है:

  1. General Purpose Computer
  2. Special Purpose Computer
I. General Purpose Computer

आधुनिक समय में उपयोग होने वाले लगभग सभी कंप्यूटर General Purpose Computer की श्रेणी में आते हैं। जनरल पर्पस कंप्यूटर वे कंप्यूटर होते हैं जिनमें कई क्रियाकलापों को करने की क्षमता होती है। इस प्रकार के Computer को सामान्य उद्देश्य के लिए बनाया गया है और इनसे सामान्य कार्य जैसे- पत्र लिखना, डाक्यूमेंट्स लिखना, व्यवसाय का लेखा-जोखा तैयार करना, कोई बजट तैयार करना या Print करना इत्यादि प्रकार के सामान्य कार्य किये जाते हैं।

II. Special Purpose Computer

Special Purpose Computer जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि ये Computer किसी कार्य विशेष को करने के लिए बनाए गए हैं। ये Computer केवल एक ही तरह के कार्य को करते हैं जैसे- ट्रैफिक मैनेजमेंट, भूमंडल की भविष्यवाणी करना, मानसून की भविष्यवाणी करना इसके अलावा मानव विज्ञान, कृषि विज्ञान और चिकित्सा के क्षेत्र में भी इन्हें उपयोग में लाया जाता है।

यह कंप्यूटर General Purpose Computer तुलना में अधिक तेज तो होते हैं लेकिन उसकी तरह कई क्रियाकलापों को करने की क्षमता नहीं होती है।

इसे भी पढ़े:

3. आकार और कैपेसिटी के आधार पर (Based on Size and Capacity)

आकार और कैपेसिटी के आधार पर भी Computer को कई श्रेणियों में बांटा गया है जो निम्न प्रकार हैं:

  1. माइक्रो कम्प्यूटर (Micro Computer)
  2. मिनी कम्प्यूटर (Mini Computer)
  3. मेनफ्रेम कम्प्यूटर (Mainframe Computer)
  4. सुपर कम्प्यूटर (Super Computer)
  5. डेस्कटॉप कम्प्यूटर (Desktop Computer)
I. माइक्रो कम्प्यूटर (Micro Computer)

इस कंप्यूटर को Micro Computer इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसमें Microprocessor का प्रयोग हुआ है और साथ ही साथ ये अन्य Computers की अपेक्षा आकार में छोटा होता है। Micro Computer अन्य Computers की अपेक्षा आकार में इतना छोटा होता है कि इसे Briefcase में आसानी से रख सकते हैं।

यह Computer अन्य Computers की तुलना में सस्ता और हल्का होता है। कार्यप्रणाली की बात करें तो सभी बड़े Computers के समान इसमें भी लगभग सभी कार्य किए जा सकते हैं लेकिन इस Computer में एक समय पर केवल एक ही व्यक्ति कार्य कर सकता है।

II. मिनी कम्प्यूटर (Mini Computer)

Micro Computer की तुलना में Mini Computer कुछ अधिक गति और मेमोरी वाले होते हैं। Mini Computer, माइक्रो कंप्यूटर की अपेक्षा अधिक महंगे होते हैं। Mini Computer को किसी कंपनी में कोई व्यक्ति के द्वारा किसी विशेष कार्य को करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। जैसे- यातायात यात्रियों को टिकट बांटना।

III. मेनफ्रेम कम्प्यूटर (Mainframe Computer)

Mainframe Computer मिनी कंप्यूटर की अपेक्षा कुछ अधिक क्षमता और अधिक गति वाले होती हैं। यह कंप्यूटर आकार में भी बड़े होते हैं और Process करने की क्षमता भी तीव्र होती है। Mainframe Computer का प्रयोग सरकारी प्रतिष्ठानों, बैंक, रेलवे आरक्षण और बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा किया जाता है।

IV. सुपर कम्प्यूटर (Super Computer)

जैसा की आप लोगों को नाम से ही पता चल रहा होगा कि Super Computer क्या होता है? Super का मतलब ही होता है कि जो सबसे अच्छा हो उसे सुपर बोला जाता है। सुपर कंप्यूटर कुछ इसी टाइप का है इसमें सब Computers की अपेक्षा बहुत अधिक गति और बहुत अधिक क्षमता होती है।

Super Computer में एक से अधिक सीपीयू लगाने की Ability होती है। इस कंप्यूटर में एक समय पर एक से अधिक व्यक्ति कार्य कर सकते हैं। ये Computer अन्य Computer की अपेक्षा साइज में बड़े और महंगे होते हैं।

V. डेस्कटॉप कम्प्यूटर (Desktop Computer)

Desktop Computer ऐसे कंप्यूटर होते हैं जिन्हें हम Desk पर सेट करके चलाते हैं इसीलिए इसे Desktop Computer बोला जाता है। इसमें एक मॉनिटर, एक कीबोर्ड, एक सीपीयू और एक माउस चारो अलग अलग होते हैं जिन्हें हम Cable द्वारा कनेक्ट करके चलाते हैं। डेस्कटॉप कंप्यूटर काफी सस्ते होते हैं इसे एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में काफी परेशानी होती है।

इसे भी पढ़े:

आज के इस लेख में हम लोगों ने जाना कि कंप्यूटर को कितनी श्रेणियों में बांटा गया है (Types of Computer in Hindi)। उम्मीद करता हूं कि यह लेख आपको अच्छा लगा होगा यदि इस लेख में आपका कोई सवाल हो तो आप Comment के माध्यम से मुझसे पूछ सकते हैं मुझे आपकी सहायता करने में खुशी होगी। बने रहिये हमारे साथ इन्तजार कीजिये हमारी अगली पोस्ट का Latest Update के लिए हमें Social Media पर जरूर Follow करें।

मैं आप लोगों को हमेशा की तरह यही कहूंगा कि यदि आपको हमारा पोस्ट अच्छा लगा हो और आपके लिए Helpfull रहा हो तो इसे अपने Social Media Profile पर शेयर कर और लोगों तक पहुचाने में हमारी मदद करें।

यदि आप Computer से सम्बंधित कुछ और जानना चाहते हैं, तो Comment Box में पूछने में जरा सा भी संकोच न करें हमें आपकी सहायता करके ख़ुशी होगी।

Computer के बारे मे जानने के लिये आप wikipedia पर भी जा सकते है

People Also Ask?

Types of Computer in Hindi, Computer ke Prakar, Classifications of Computer in Hindi, What is Computer in Hindi, History of Computer in Hindi, Generation of Computer in Hindi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here