Software in Hindi [सॉफ्टवेयर क्या है? और कैसे बनाते है]

Software-in-Hindi-Software-Kya-Hai-and-Types-of-Software-in-Hindi

Software in Hindi (सॉफ्टवेयर क्या है?): नमस्कार दोस्तों! HindiCapitals वेबसाइट में आपका बहुत-बहुत स्वागत हैI आज के इस लेख में हम लोग बात करने वाले हैं Software in Hindi के बारे में।

आज के समय में लगभग सभी लोग मोबाइल या कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं तो Software का नाम लगभग सभी लोगों ने सुना ही होगा लेकिन शायद Software के बारे में संपूर्ण जानकारी आप लोगों को नहीं होगी।

यदि आप जानना चाहते हैं कि Software क्या होता है? (What is Software in Hindi), Software Kitne Prakar ke Hote Hai? (Types of Software in Hindi), या फिर Software कैसे काम करता है? (Working of Software in Hindi) तो इस लेख को अंतिम तक जरूर पढिएगा। इस लेख में आपको Software की संपूर्ण जानकारी और कुछ नया सीखने को जरूर मिलेगा।

आज के समय में Internet और Computer की वजह से दुनिया कितना बदल गई है। आजकल लगभग सभी काम Internet के द्वारा हो रहा है। आज के समय में कंप्यूटर और मोबाइल में Software का इस्तेमाल करके लगभग सभी काम कर लिए जाते हैं।

किताबों से पढ़ना बंद हो गया क्योंकि किताबें सारी PDF बन गई, RadioTap से गाना सुनना बंद हो गया क्योंकि गाना Music Player से सुना जाने लगा, कागजों पर चिट्ठियां लिखना बंद हो गई क्योंकि लिखने के लिए Ms Word का प्रयोग होने लगा, चित्रकारी करने के लिए कागज पेंसिल की जगह Ms Paint का प्रयोग होने लगा इत्यादि। आज यह सब संभव हो पाने की मुख्य वजह Software है।

Technology के इस दौर में दिन-प्रतिदिन नए नए Software बनाए जा रहे हैं जिससे लोगों के काम और आसान होते जा रहे हैं तो चलिए अब विस्तार से जानते हैं कि Software क्या है? (What is Software in Hindi) और Software कितने प्रकार का होता है? (Types of Software in Hindi) इसके अलावा और भी सॉफ्टवेयर के बारे में संपूर्ण जानकारी।

इसे भी पढ़े:

Software क्या है? (Software in Hindi)

कंप्यूटर पर किसी कार्य को करने के लिए दो चीजों की आवश्यकता होती है Hardware और Software। Hardware किसी सिस्टम के भौतिक भाग होते हैं जिन्हें देखा भी जा सकता है और हाथों से छुआ भी जा सकता है जैसे- Keyboard, Mouse, Printer इत्यादि। Hardware वही काम करते हैं जिस काम के लिए इन्हें बनाया जाता है।

इसके विपरीत Software बहुत सारे Programs और Instructions का एक समूह होता है जो Hardware के कार्यों को निर्धारित करता है। Software यूजर और हार्डवेयर के बीच एक Interface होता है जो यूजर द्वारा Hardware के माध्यम से दिए जाने वाले निर्देशों को Process करता है।

Software को मनुष्य का कार्य आसान करने के लिए बनाया जाता है। आजकल काम को ध्यान में रखते हुए Software बनाए जाते हैं। जैसा काम होता है वैसा Software डेवलप किया जाता है जिसमें से कुछ Free Software होते हैं और कुछ Paid Software होते हैं। किसी कंप्यूटर सिस्टम में Hardware उसकी बॉडी और Software उसका दिमाग होता है।

Software in Hindi, Types of Software in Hindi, HindiCapitalsजिस प्रकार मनुष्य का दिमाग के बिना कोई अस्तित्व नहीं है उसी प्रकार किसी कंप्यूटर का Software के बिना कोई अस्तित्व नहीं होता है। बिना Software के हमारा कंप्यूटर एक डिब्बे के समान हो जाता है और इससे कुछ भी काम नहीं किया जा सकता है। प्रत्येक Software का अलग-अलग अस्तित्व होता है और सभी का अलग-अलग काम होता है।

मोबाइल या कंप्यूटर के Display पर जो Icons दिए होते हैं वह सभी Software होते हैं जिस प्रकार Operating System के बिना हम अपने कंप्यूटर या मोबाइल को ऑन नहीं कर सकते हैं। उसी प्रकार Software के बिना भी हम अपने सिस्टम को ऑन नहीं कर सकते हैं। कंप्यूटर मोबाइल के ऑन होते ही सबसे पहले Software  RAM में Load होता है।

इसे भी पढ़े:

Types of Software (सॉफ्टवेयर के प्रकार)

Software ke Prakar: हम कंप्यूटर के द्वारा विभिन्न प्रकार के अलग-अलग काम करते हैं जो कि केवल एक Software के द्वारा नहीं किए जा सकते हैं इसलिए जरूरत के हिसाब से Software को निम्नलिखित तीन भागों में वर्गीकृत किया गया है।

  1. System Software
  2. Application Software
  3. Utility Software

इन तीनों प्रकार के Software को नीचे विस्तार में समझाया गया है।

1. System Software (सिस्टम सॉफ्टवेयर)

Software कोई भी हो वह बहुत सारे Programs और Instructions से मिलकर बना होता है। System Software के नाम से ही पता चलता है कि यह किसी System का Software होता है जो किसी System से कनेक्टेड Hardware के कामों को संभालता है जिससे Application Software अपना काम सही तरीके से कर सके। Systems कुछ भी हो सकते हैं जैसे- Mobile, PC, Laptop इत्यादि।

कंप्यूटर या लैपटॉप में जितने भी Software Installed होते हैं उन सभी को चलाने के लिए System Software सहायक होता है। बिना System Software के किसी भी Application Software को नहीं चलाया जा सकता है। System Software निम्नलिखित प्रकार के होते हैं।

  1. Operating System
  2. Language Translator
  3. Utility Programs
I. Operating System (ऑपरेटिंग सिस्टम)

यह एक ऐसा System Software होता है जिसेे सिस्टम के चालू होते ही Load किया जाता है यह यूज़र और हार्डवेयर के बीच एक Interface का काम करता है Operating System हमारे द्वारा दिए जाने वाले निर्देशों को Machine Language में कंप्यूटर को समझाता है जिससे कंप्यूटर हमें उचित आउटपुट देता है

अगर आप Operating System के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी जानना चाहते हो तो दिये गये link पर Click करे। कुछ ऑपरेटिंग Operating System के नाम नीचे दिए गए हैं

  • Windows
  • Linux
  • Ms-Dos
  • iPhone
  • Android
II. Language Translator (लैंग्वेज ट्रांसलेटर)

Language Translator भी System Software होते हैं जो सिस्टम में एक लैंग्वेज को दूसरे लैंग्वेज में Translate करते हैं इसका प्रयोग अधिकतर Programming languages जैसे- C, C++, Java, Python इत्यादि को Translate और Execute करने में किया जाता है Language Translator कई प्रकार के होते हैं जिनके काम भी अलग-अलग होते हैं कुछ Language Translator के नाम नीचे दिए गए हैं

  • Compiler
  • Interpreter
  • Assembler
  • Linker
  • Loader
III. Utility Programs (यूटिलिटी प्रोग्राम्स)

Utility Program एक System Software होते हैं जिन्हें Service Program भी कहा जाता हैI इनका संपर्क डायरेक्ट Hardware से नहीं होता है ये Software किसी प्रकार के अटैक से हमारे सिस्टम को सुरक्षा प्रदान करते हैं ये हानिकारक चीजों को सिस्टम में आने से और दूसरे सिस्टम में जाने से रोकते हैं जब भी सिस्टम में कोई External Device कनेक्ट की जाती है तो Utility Program पहले उसकी जांच करता है उसके बाद Allowed करता हैI कुछ Utility Program के नाम नीचे दिए गए हैं

  • Antivirus
  • Disk Defragmenter
  • Communication Tools
  • Disk Formatter

2. Application Software (एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर)

Application Software वे Software होते हैं जिसके द्वारा User मोबाइल या कंप्यूटर पर किसी कार्य को करते हैंI इन्हें डिवाइस में Install करने की जरूरत पड़ती है ये Software यूजर की जरूरत के अनुसार  Design किए जाते हैं Application Software को हाथों के द्वारा छुआ नहीं जा सकता है इनको देखकर केवल इन पर अपना काम किया जाता है

Application Software किसी Website, Play Store, App Store इत्यादि में उपलब्ध होते हैं जिनमें से कुछ Free होते हैं और कुछ Paid होते हैं इन्हें हम डाउनलोड करके अपनेे सिस्टम में Install करते हैं Application Software के बिना हम अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर कोई कार्य नहीं कर सकते हैं

Application Software को Categories नहीं किया जा सकता है क्योंकि यह कई Category के आते हैं कुछ एप्लीकेशन Online Run होते हैं और कुछ एप्लीकेशन Offline Run होते हैं कुछ Application Software के नाम नीचे दिए गए हैं जो निम्नलिखित हैं

  • Ms Power Point
  • Ms Excel
  • Photoshop
  • Google Chrome
  • WhatsApp

3. Utility Software (यूटिलिटी सॉफ्टवेयर)

Utility Software वे Software होते हैं जो कंप्यूटर को रिपेयर करके उसे Clean करता है जिससे हमारा System और Operating System किसी हानिकारक अटैक से सुरक्षित रहते हैं ये Software हमारे Computer की कार्यक्षमता और गति को बढ़ाने में सहायक होते हैं

कुछ Operating System में Utility Software Pre-installed होते हैं और कुछ Operating System में इन्हें Install करना पड़ता है कुछ यूटिलिटी सॉफ्टवेयर Free होते हैं और कुछ Paid भी होते हैं जिन्हें पैसे देकर लेना पड़ता है Utility Software थोड़ा Technical होते हैं जिसे इस्तेमाल करने के लिए आपके पास थोड़ा बहुत Technical Knowledge भी होना चाहिए

यदि आप अपने Computer में Internet का इस्तेमाल नहीं करते हैं और कोई External Device जैसे- USB, Ped Drive, Mobile इत्यादि को नहीं Connect करते हैं तो आपको Utility Software की विशेष आवश्यकता नहीं पड़ती है

यदि आप Avid Computer User हैं तो आपको अपने Operating System में Utility Software रखना आवश्यक होता है जिससे आप अपने Computer को अधिक समय तक सुरक्षित रख सकते हैं क्योंकि यह Software हानिकारक और घातक चीजों को Computer में आने से रोकते हैं और इसके साथ-साथ यह आपके Time और Space की भी बचत करते हैंI कुछ Utility Software के नाम नीचे दिए गए हैं

  • Antivirus
  • Disk Cleaner
  • Disk Cleanup
  • Virus Scanner
  • System Profilers

इसे भी पढ़े: WWW in Hindi [WWW का इतिहास क्या है? सम्पूर्ण जानकारी]

सॉफ्टवेयर की आवश्यकता (Needs of Software)

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कि हमारा कंप्यूटर Software और Hardware से मिलकर बना होता है यदि हम अपने Computer से Software को निकाल दें तो Computer हमारे किसी काम का नहीं रहता है यह Computer तब तक नहीं काम करेगा जब तक उसमें Software ना डाला जाए

अर्थात किसी काम को करने के लिए उसमें Software का होना बहुत जरूरी होता है जिसमें सबसे बड़ा सॉफ्टवेयर Operating System होता हैI Operating System के अलावा जरूरत के अनुसार और भी Software की आवश्यकता होती है जिन्हें अपने सिस्टम में Install करना पड़ता है

उदाहरण के लिए जैसे आप कोई पत्र लिखना चाहते हैं या Documents बनाना चाहते हैं या Internet पर कुछ Search करना चाहते हैं या Photo Edit करना चाहते हैं तो इन सभी कार्यों को करने के लिए आपको अलग-अलग Software की आवश्यकता पड़ती है जिन्हें आपको अपने सिस्टम में Install करना पड़ता है और इन्हें Application Software कहा जाता है समय-समय पर इन्हें Update भी करना पड़ता है जिससे इसमें आने वाले नए Features के लाभ मिल सके

अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग Software की जरूरत पड़ती है यदि आप अपने Systems को हानिकारक Files, Virus इत्यादि से बचाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको Utility Software की आवश्यकता पड़ती है इसी प्रकार किसी भी काम को करने के लिए हमें Software की आवश्यकता पड़ती है

इसे भी पढ़े:

सॉफ्टवेयर कैसे बनाते हैं? [How to Make Software in Hindi]

Software को बनाने के लिए Programming languages की आवश्यकता पड़ती है जैसे- C, C++, Java, Python इत्यादि बहुत सारी Programming languages बनाई गई हैं जिसकी मदद से Software डेवलप किए जाते हैं

एक या एक से अधिक Programmer मिलकर किसी Software को Develop करते हैं Programmer उसे कहते हैं जिसके पास Programming language की Skills होती है, जो Program लिखते हैं

किसी कंपनी में बहुत सारे Programmers होते हैं जो वहां काम करते हैं जैसा कि आप जानते हैं कि Software बहुत सारे Programs का समूह होता है जो कंपनी के अलग-अलग Programmers के द्वारा बनाया जाता है

किसी Programmer को Software का छोटा हिस्सा दे दिया जाता है जिस पर वह करीब 6 महीना या एक साल तक काम करता है और अंत में अलग-अलग Programmers के द्वारा बनाए गए Programs को मिलाकर एक Software डिजाइन किया जाता है

Conclusion

प्रिय पाठकों! मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है कि मैं अपने पाठकों को किसी भी चीज की संपूर्ण जानकारी दूं आज के इस लेख में हमने Software in Hindi की संपूर्ण जानकारी आप लोगों को दी है

मैं आशा करता हूं कि आप लोगों को हमारा What is Software in Hindi और Types of Software in Hindi लेख अच्छे से समझ में आ गया होगा यदि अभी भी Software in Hindi लेख में आपको कोई डाउट हो या आपका कोई सवाल हो तो नीचे दिए गए Comment Box में हमें Comment करके जरूर बताएं

मैं आशा करता हूं कि हमारे सभी लेख आप लोगों को पसंद आ रहे होंगेI मैं हमेशा की तरह यही कहूंगा कि यदि हमारा यह लेख आपको अच्छा लगा हो तो इसे Social Media जैसे- WhatsApp, Facebook, Twitter, Gmail के माध्यम से अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को जरुर शेयर करें जिससे उन्हें भी यह पता चल सके कि जिस Software का इस्तेमाल हम करते हैं वह होता क्या है? इसके साथ-साथ हमारे पोस्ट को Like करना बिल्कुल भी ना भूलिएगा

यदि आप हमारे पोस्ट की Latest Update तुरंत पाना चाहते हैं तो हमारे Email Subscription में अपनी Email Id डाल कर हमें जरूर Subscribe करें इसके साथ-साथ हमें सोशल मीडिया पर भी Follow करें

आप What is Software in Hindi wikipedia से भी पढ़ सकते हो।

इसे भी पढ़े:

People Also Search

Software in Hindi, Types of Software in Hindi, Software ke Prakar, How to Make Software in Hindi, Software kya hai Hindi mai, Characteristics of Software in Hindi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here