Operating System in Hindi [ऑपरेटिंग सिस्टम की पूरी जानकारी]

Operating-System-in-Hindi-Operating-System-Kya-Hai

Operating System in Hindi [ऑपरेटिंग सिस्टम की पूरी जानकारी]: नमस्कार दोस्तों! Hindi Capitals वेबसाइट में आपका बहुत-बहुत स्वागत है। आज के इस लेख में हम Operating System in Hindi की बात करेंगे।

अगर आप Operating System kya Hai?, Operating System ke Karya क्या है? Types of Operating System in Hindi या Functions of Operating System in Hindi इत्यादि केे बारे मे जानना चाहते है तो इस लेख को अंतिम तक जरूर पढ़ना।

आप लोग मोबाइल या कंप्यूटर का इस्तेमाल करते ही होंगे लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह मोबाइल और कंप्यूटर चलते कैसे हैं।

इसके लिए मैं आपको बता दूं कि जिस प्रकार किसी घर के लिए नींव जरूरी होती है और मनुष्य के लिए दिल जरूरी है उसी प्रकार इसी मोबाइल और कंप्यूटर के लिए Operating System जरूरी है क्योंकि बिना Operating System के मोबाइल हो या कंप्यूटर किसी काम का नहीं होता है।

Operating System in Hindi: ऑपरेटिंग सिस्टम की सम्पूर्ण जानकारी

जब हम मोबाइल लेने के लिए जाते हैं तो हमें सुनने को मिलता है Android Kitkat, Lolipop, Oreo इत्यादि और यदि हम कंप्यूटर लेने के लिए जाते हैं तो भी हमें सुनने को मिलता है Windows8, Windows10, Linux, Mac इत्यादि ये सब क्या है? ये सब मोबाइल और कंप्यूटर के Operating System होते हैं।

यदि आप Operating System के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं कि Operating System kya Hai? Operating System ke Karya क्या है? इत्यादि के बारे में संपूर्ण जानकारी के लिए इस लेख को शुरू से अंत तक जरूर पढियेगा। तो चलिए सबसे पहले यह जानते हैं कि Operating System kya Hai?

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है? (What is Operating System in Hindi)

Operating System, End User और Hardware के बीच एक प्रकार का Interface होता है। Operating System को System Software भी कहा जाता है इसे छोटे रूप में “OS” भी कहा जाता है। यह किसी कंप्यूटर या मोबाइल का दिल होता है जिसके बिना Mobile हो या Computer किसी काम का नहीं होता है। Operating System उपयोगकर्ता और हार्डवेयर के बीच एक सेतु का काम करता है।

Operating-System-in-Hindi

जब भी आप मोबाइल या कंप्यूटर में गाना सुनते हो, वीडियो देखते हो, Documents तैयार करते हो तो यह सारा काम Operating System के द्वारा ही होता है। बिना Operating System के कंप्यूटर या मोबाइल पर कोई काम कर पाना Possible नहीं होता है।

Operating System एक प्रकार का Program है जो हमारे मोबाइल और कंप्यूटर के Operations और Resources को Handle करता है। Operating System वह पहला Program होता है जो सबसे पहले कंप्यूटर में लोड होता है इसलिए इसे Program of Programs भी कहा जाता है।

Operating System के लोड होने के बाद बेजान Hardware काम करने लायक बन जाता है। Operating System, यूजर द्वारा दिए गए कमांड को कंप्यूटर को समझाता है फिर कंप्यूटर उस कमांड के अनुसार काम करता है।

Operating System एक आधार है जिसकी वजह से सारे Hardware और Software पार्ट काम करते हैं। Hardware जैसे- Keyboard, Mouse, Printer और Software जैसे- Chrome, Photoshop, VLC Player, Ms Office इत्यादि। सभी Operating Systems का Interface और चलाने का तरीका अलग अलग होता है।

इसे भी पढ़े:

Functions of Operating System in Hindi

Operating System की वजह से कंप्यूटर बहुत सारा काम करता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि Operating System खुद कैसे काम करता है। Operating System कम्प्यूटर को ऑन करने से लेकर ऑफ होने तक पूरा भार अपने ऊपर संभालता है जो कि एक सोचने वाली बात है।

Operating System कुछ महत्वपूर्ण कार्य करता है जिसे हम Functions of Operating System in Hindi के नाम से जानते है जिनके नाम निम्न प्रकार हैं।

  1. Memory Management
  2. File Management
  3. Processor Management
  4. Device Management
  5. Security Management
  6. Control System Performance
  7. Error Detecting
  8. Communicate Between User and Software

अब हम ऊपर दिए गए Functions of Operating System in Hindi को Detail में समझेंगे।

1. Memory Management (मेमोरी मैनेजमेंट)

Primary और Secondary Memory को Manage करने की प्रक्रिया को Memory Management कहते हैं। RAM को Primary Memory और Hard Disk को Secondary Memory कहते हैं। Primary Memory को Main Memory भी कहा जाता है।

RAM एक Array Bytes होता है जोकि Current Time में  उपयोग होने वाला Data को Store करता है। Hard Disk बहुत बड़े Bits का Array होता है। Main Memory सबसे तेज Memory होती है जिसे CPU के द्वारा Direct इस्तेमाल किया जाता है। Memory Management में Operating System निम्नलिखित कार्य करता है।

  1. Main Memory का इस्तेमाल कहां होना है और कितना होना है।
  2. Multiprocessing में Operating System के द्वारा Decide किया जाता है कि किसको कितनी मेमोरी देना है।
  3. जब किसी Process को मेमोरी की आवश्यकता होती है तो Operating System के द्वारा मेमोरी दे दिया जाता है।
  4. Process के खत्म होते ही Operating System के द्वारा मेमोरी वापस ले लिया जाता है।
2. File Management (फाइल मैनेजमेंट)

एक फाइल में बहुत सारे Data को Directories के अंदर संगठित करके रखा जाता है जिससे Data को ढूंढने में आसानी होती है। Directory को Folder भी कहा जाता है। File Management में Operating System निम्नलिखित कार्य करता है।

  1. Operating System के द्वारा Informations को Track किया जाता है इसके साथ-साथ फाइल का Location, फाइल का Size, फाइल का Data इत्यादि की जानकारी भी Operating System अपने पास रखता है।
  2. Operating System के द्वारा Decide किया जाता है कि किसको कितना Resource मिलेगा।
  3. ऑपरेटिंग सिस्टम्स Resource को Deallocate करता है।
3. Processor Management (प्रोसेसर मैनेजमेंट)

जब कंप्यूटर पर Multiprocessing हो रही होती है तो Operating System के द्वारा यह Decide किया जाता है कि किस Processor को कितना Process देना है, कितना देना है और कितने समय के लिए देना है। इस Function को Process Scheduling भी कहा जाता है। Processor Management में Operating System निम्नलिखित कार्य करता है।

  1. ऑपरेटिंग सिस्टम Processor को Track करता है उसके सारे कामों के Status का रिकॉर्ड अपने पास रखता है। Processor का सारा काम Task Manager में देखा जा सकता है।
  2. ऑपरेटिंग सिस्टम प्रत्येक Process के लिए Processors को Distribute करता है।
  3. जब Processor के द्वारा एक Process खत्म हो जाती है तो ऑपरेटिंग सिस्टम दूसरे काम की अनुमति देता है।
  4. Processor का काम खत्म हो जाने पर ऑपरेटिंग सिस्टम उसे फ्री कर देता है।
4. Device Management (डिवाइस मैनेजमेंट)

जब भी आप अपने Computer में कोई इनपुट आउटपुट डिवाइस को जोड़ते हैं तो इसके लिए आपके Computer में Driver का होना जरूरी होता है। बिना Driver के हमारा Computer किसी भी External Device को पहचान नहीं पाता है। Operating System किसी Device को Driver के सहारे ही Manage करता है।

Windows7 तक के Operating System में Driver को अलग से Install करना पड़ता था लेकिन अब के Operating System में यह पहले से Installed आता है। डिवाइस मैनेजमेंट में ऑपरेटिंग सिस्टम निम्नलिखित कार्य करता है।

  1. Operating System सभी Devices को Track करता है और इस Program को I/O Controller कहा जाता है।
  2. Operating System के द्वारा यह भी निर्णय लिया जाता है कि कौन सी Process को कब और कितने समय के लिए Device देना है।
  3. किसी Device का काम हो जाने के बाद उसे Deactivate करके रखता है।
5. Security Management (सिक्योरिटी मैनेजमेंट)

जब किसी मोबाइल या कंप्यूटर को ऑन किया जाता है तो वह हमसे पासवर्ड की मांग करता है इसका मतलब Operating System हमें Security भी Provide करता है। Operating System हमें Unauthorized  User के Access से बचाता है।

Operating System हमें Multiple यूजर के अलग-अलग अकाउंट Create करने का Features देता है। इससे आप एक ही कंप्यूटर पर अपना अलग अकाउंट Create करके अपने Personal Data को सुरक्षित रख सकते हैं। सिक्योरिटी मैनेजमेंट में ऑपरेटिंग सिस्टम निम्नलिखित कार्य करता है।

  1. यह हमें Unauthorized Access से बचाता है।
  2. एक ही कंप्यूटर पर Multiple User Account Create करने का फीचर्स देता है।
  3. पासवर्ड भूल जाने पर यह हमें पासवर्ड की Hint देता है।
6. Control System Performance

Operating System हमारे डिवाइस की Performance को भी Measure करता है। कभी-कभी जब हम किसी Software को Open करते हैं तो उसको Open होने में थोड़ा समय लगता है या हम जब किसी फाइल को Save करते हैं तो वह Save होने में काफी समय लगा देती है।

इस प्रकार की समस्या कंप्यूटर में Virus या फिर कंप्यूटर के Overload हो जाने पर आती है। System के Performance में होने वाले Delay को ऑपरेटिंग सिस्टम Record करता है यह भी रिकॉर्ड करता है कि कंप्यूटर किसी Request का Response कितनी देर में दे रहा है।

7. Error Detecting

Computer पर काम करते करते बहुत बार ऐसा होता है कि हम किस सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम का इस्तेमाल कर रहे होते हैं और वह Hang होने लगता है और कभी कभी ऐसा भी होता है कि कोई Error होने के कारण सॉफ्टवेयर बीच में ही बंद हो जाता है। इन सारी Errors को ऑपरेटिंग सिस्टम Track करता है

8. Communicate Between User & Software

Operating System यूजर और सॉफ्टवेयर के बीच Communication कराता है। जब हम Computer को कोई निर्देश देते हैं तो वह उसे Binary Number (0,1) में Convert करता है तब उसे कंप्यूटर समझ पाता है और उसी Process करके हमें आउटपुट डिवाइस की मदद से आउटपुट दिखाता हैै।

कंप्यूटर Machine Language समझता हैै। यूजर जब कोई कमांड देता है तो वह अपनी Language में देता है और Operating System दोनों के बीच Communicate कराता हैै

इसे भी पढ़े:

Types of Operating System in Hindi

टेक्नोलॉजी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है और इस टेक्नोलॉजी के दौर में हर चीज बदलता जा रहा हैै Operating System भी कोई एक प्रकार का नहीं होता है यह भी विभिन्न भागों में विभाजित किया गया है जरूरत के हिसाब से Operating System का इस्तेमाल किया जाता है Operating System के प्रकार (Types of Operating System in Hindi) निम्नलिखित हैं

1. Batch Operating System
2. Time Sharing Operating System
3. Network Operating System
4. Distributed Operating System

5. Real-Time Operating System

अब हम ऊपर दिए गए Types of Operating System in Hindi को Detail में समझेंगे।

1. Batch Operating System

Batch Operating System बहुत पुराने ऑपरेटिंग सिस्टम है इसमें यूजर और कंप्यूटर के बीच कोई Direct Interaction नहीं होता है इस Operating System में किसी Process को करने के लिए एक Storage Unit की आवश्यकता होती है जिसमें यूजर को अपने Task का Batch बनाकर Store करना पड़ता है और कंप्यूटर को Submit करना पड़ता है

Submit करने के काफी दिन के बाद आउटपुट डिवाइस के द्वारा Output प्राप्त होता है यह Operating System सामान तरह के Task को छांटकर एक Batch बनाता है इसलिए इसे Batch Operating System कहा जाता है इस ऑपरेटिंग सिस्टम में बड़े बड़े कामों को आसानी से करने की क्षमता होती है और इसे बहुत सारे यूज़र आपस में शेयर भी कर सकते हैं

2. Time Sharing Operating System

इस प्रकार के Operating System में किसी काम को करने के लिए टाइम दिया जाता है जिससे सभी काम सही से हो सके इसमें सभी काम को One by One किया जाता है इसमें एक काम के Complete होते ही दूसरे काम को दे दिया जाता है इसमें सभी काम को करने का बराबर मौका मिलता है

यदि कोई Process चल रही होती है और उसी समय यदि दूसरी Process आ जाए तो उसे Wait करना पड़ता है जब पहली Process खत्म हो जाती है तब दूसरी Process को मौका दिया जाता है इसमें सिंगल यूजर से भी काम हो सकता है और Multiple User से भी काम हो सकता है

3. Network Operating System

यह किसी Specific Server पर काम करते हैंI इसमें एक Server बना होता है उसी Server से सारे कंप्यूटर Connected होते हैं उन Computers में से किसी से भी कोई भी काम किया जा सकता है

उदाहरण: आप किसी Company या किसी Computer Academy में जाएंगे तो वहां पर रखे हुए सभी Computers एक दूसरे से नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा अपने Specific Server से Connected होते हैं उसमें सभी कंप्यूटर की फाइल, फोल्डर किसी भी एक कंप्यूटर से Access किया जा सकता है इन सभी कंप्यूटर में एक ही Login Id और Password से किसी भी कंप्यूटर को खोला जा सकता है

4. Distributed Operating System

Distributed Operating System एक प्रकार की एडवांस टेक्नोलॉजी है जो लगभग आज के समय में हर जगह इस्तेमाल की जाने लगी है जब कई सारे Independent Computers को आपस में जोड़ कर एक Single System की तरह इस्तेमाल किया जाता है तो उसे Distributed Operating System कहते हैं

यह बिल्कुल जरूरी नहीं होता कि सभी एक ही स्थान पर हो वह अलग अलग कहीं पर भी हो सकते हैं LAN और WAN के बारे में तो आप लोगों ने सुना ही होगा जब सभी कंप्यूटर एक ही जगह पर आपस में Connected होते हैं तो उन्हें LAN Distributed System कहा जाता है और जब सभी कंप्यूटर अलग-अलग जगह से आपस में Connected होते हैं तो उन्हें WAN Distributed System कहा जाता है

यह ऑपरेटिंग सिस्टम Data को Load करने में और Processing करने में बहुत कम समय लगाते हैं इसमें सभी सिस्टम Dependent नहीं होते हैं यदि किसी सिस्टम में कुछ खराबी आती है तो दूसरे सिस्टम में कुछ फर्क नहीं पड़ता हैै

5. Real Time Operating System

यह सब से Advance Level का ऑपरेटिंग सिस्टम है जो Real Time पर काम करता हैै इसके काम करने की स्पीड बहुत तेज होती हैै। इसमें किसी काम को Live देखा जा सकता हैै इस Operating System की वजह से Robotics हाथों का प्रयोग करके अमेरिका का कोई स्पेशलिस्ट डॉक्टर इंडिया में बैठे हुए किसी मरीज का ऑपरेशन कर सकता है

इस ऑपरेटिंग सिस्टम का Response Time बहुत ही कम होता है यह Operating System दो भागों में बटा हुआ है जो निम्नलिखित हैं

I. Hard Real Time Operating System

इसमें किसी Task को Complete करने के लिए एक समय सीमा निर्धारित किया जाता है उसी समय सीमा के अंदर टास्क कंप्लीट हो जाता है और इसमें गलती का कोई Chance नहीं होता है

II. Soft Real Time Operating System

इसमें समय सीमा की कोई पाबंदी नहीं होती हैै यदि System में कोई काम चल रहा है और उसी समय कोई दूसरा Task आ जाता है तो नये Task को ज्यादा Priority दी जाती हैै

Characteristics of Operating System in Hindi

Operating System बहुत विशेषताओं के लिए जाना जाता है कुछ प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं

  1. Operating System के पास कंप्यूटर या मोबाइल में एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को रन करने की जिम्मेदारी होती है
  2. सिस्टम में आने वाली Errors और Falt के बारे में अवगत कराता है
  3. सिस्टम पर होने वाले सभी कार्यों का रिकॉर्ड अपने पास Collect करता है
  4. सिस्टम पर लगे हुए हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों को Handle करता है
  5. किसी भी External सॉफ्टवेयर को सिस्टम में Install करने में सहायक होता है अर्थात सॉफ्टवेयर में पहले Bugs को चेक करता है फिर Allowed करता है जिससे हमारा सिस्टम Secure रहे

इसे भी पढ़े:

Advantages of Operating System in Hindi

टेक्नोलॉजी ने अच्छे Operating System का आविष्कार कर हमें अनेकों फायदे दिए हैं जो निम्नलिखित हैं

  1. Operating System के द्वारा हम अपने डाटा को Multiple Users में Share कर सकते हैं
  2. Operating System के द्वारा हम Resources को एक स्थान से दूसरे स्थान पर Connect कर सकते हैं
  3. ये चलानें में आसान होते हैं क्योंकि इसमें Graphics User Interface होता है
  4. Operating System हमारे सिस्टम को Secure रखता हैI यह कोई भी हानिकारक Files को Detect करके उसे हमारे सिस्टम से Remove कर देता है
  5. Operating System के द्वारा उसकी Capacity के अनुसार कोई भी सॉफ्टवेयर अपने सिस्टम में Install और Run किया जा सकता है

Disadvantages of Operating System in Hindi

Operating System के फायदे तो अनेक हैं लेकिन इसके साथ-साथ इसके नुकसान भी बढ़िया बढ़िया हैं जो निम्नलिखित हैं

  1. कुछ Operating System हमें फ्री में मिलते हैं और कुछ के लिए हमें पैसे खर्च करना पड़ता है
  2. कुछ Operating System ऐसे होते हैं जिनको चलाना थोड़ा मुश्किल होता है जैसे- Ubuntu थोड़ा Difficult है Windows से
  3. कुछ Operating System ऐसे होते हैं जो सभी प्रकार के हार्डवेयर को Support नहीं करते हैं इसलिए हम मनचाहे हार्डवेयर का उपयोग अपने System में नहीं कर पाते हैं
  4. कुछ तो ऐसे Operating System आते हैं जिसमें Virus का खतरा ज्यादा होता है
  5. सभी Operating System का Graphics User Interface अलग-अलग होता है जिससे जब User अपने सिस्टम का Operating System चेंज करता है तो शुरू में उसे चलाने और समझने में थोड़ी दिक्कत होती है

इसे भी पढ़े:

कुछ Computer Operating System के नाम [Name of Computer Operating System]

Computer के लिए कुछ Operating System बनाए गए हैं जिनकी वजह से हम कंप्यूटर पर किसी भी सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम को Run और Execute कराते हैं इनके नाम निम्नलिखित है

  1. Window Operating System
  2. Linux Operating System
  3. Mac Operating System
  4. Ms-dos Operating System
  5. Unix Operating System
  6. Ubuntu Operating System
कुछ Mobile Operating System के नाम [Name of Mobile Operating System]

मोबाइल के लिए भी कुछ Operating System बनाए गए हैं जो केवल मोबाइल में Support करते हैं जिनके नाम कुछ इस प्रकार से हैं

  1. Android Operating System
  2. Blackberry Operating System
  3. iPhone Operating System
  4. Symbian Operating System
  5. MeeGo Operating System
  6. Palm Operating System
Conclusion

मुझे पूरी आशा है कि इस लेख को पूरा पढ़ कर आप Operating System in Hindi के बारे में सब कुछ जान गए होंगे। इस लेख में हमने आसान भाषा में आप लोगों को What is Operating System in Hindi की संपूर्ण जानकारी दी है।

मेरी आप लोगों से गुजारिश है कि इस लेख को आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को Social Media जैसे- WhatsApp, Facebook, Twitter, Email इत्यादि के माध्यम से जरूर शेयर करें जिससे लोगों को लाभ होगा और उन्हें भी इस चीज की जानकारी होगी। मुझे आपके सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नई नई जानकारियां आप लोगों तक पहुंचा सकूं।

यह लेख आप लोगों को कैसा लगा या इस लेख से संबंधित आपका कोई सवाल हो तो Comment Box में Comment करके जरूर बताएं। मैं आपके कमेंट का Reply जरूर दूंगा। मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है कि मैं अपने पाठकों की हर प्रकार से मदद करूं। यदि आप हमारे Latest Post की Update पाना चाहते हैं तो HindiCapitals वेबसाइट को Subscribe करना बिल्कुल भी ना भूलें।

यदि आप Technology, Computer, Blogging इत्यादि से सम्बंधित कुछ और जानना चाहते हैं, तो Comment Box में पूछने में जरा सा भी संकोच न करें हमें आपकी सहायता करके ख़ुशी होगी।

आप Operating System in Hindi wikipedia से भी पढ़ सकते हो।

People Also Search

Operating System in Hindi, Operating System kya Hai, Functions and Types of Operating System in Hindi, Operating System ke Prakar, Operating System ke Karya, Components of Operating System in Hindi, Evolution of Operating System in Hindi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here